Tuesday, March 17, 2009

ब्लॉगः बॉलीवुड का उभरता संचार माध्यम


चिट्ठाजगत अधिकृत कड़ी

(मेरा यह लेख “मीडिया विमर्श” के जनवरी-मार्च 2009 अंक में प्रकाशित हुआ है।)

भिव्यक्ति के सभी माध्यमों में ब्लॉग ही एकमात्र ऐसा माध्यम है जहां पर किसी को अपने विचार व्यक्त करने के साथ-साथ शब्दों का प्रयोग करने की भी पूरी स्वतंत्रता है। इसके साथ ही जहां लेखक को अपनी बात कहने की पूरी आज़ादी है, वहीं पाठक भी खुलकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे सकते हैं। हालांकि प्रचार प्रसार के मामले में भारतीय ब्लॉगजगत अभी पश्चिमी राष्ट्रों के मुकाबले काफी पीछे है लेकिन कम्प्यूटर साक्षर व्यक्तियों में ब्लॉग काफी प्रसिद्ध हो रहे हैं। आज हमारे देश में भी किसी व्यक्ति का अपना ब्लॉग होना प्रतिष्ठा की बात समझी जाने लगी है।

हॉलीवुड और पश्चिमी फिल्म जगत में ब्लॉगिंग का चलन आम है और वहां के कई फिल्म कलाकार अपने ब्लॉग के जरिये अपने प्रशंसकों से हमेशा संपर्क में रहते हैं। समयाभाव के कारण हालांकि ह़ॉलीवुड के अभिनेता अपने ब्लॉग को अधिक समय नहीं दे पाते लेकिन फिर भी वे इसके लिए यथासंभव समय निकालने का प्रयास करते हैं। चीन की अभिनेत्री जू जिंगले का ब्लॉग विश्व में सर्वाधिक लोकप्रिय ब्लॉग है जिस पर अब तक पांच करोड़ से भी अधिक पाठक विजिट कर चुके हैं। ब्लॉगिंग करने वाली विख्यात हस्तियों में टेनिस खिलाड़ी एवं मॉडल अन्ना कुर्निकोवा, हॉलीवुड अभिनेत्री पामेला एंडरसन और रोज़ी ओ’डोनेल, गायिका ब्रिटनी स्पीयर्स, सुपरमॉडल कर्टनी लव और फिल्म अभिनेता केविन स्मिथ और डेव बैरी भी शामिल हैं।

बॉलीवुड में ब्लॉगिंग अभी अपने आरंभिक दौर में ही है। अभी तक फिल्मी हस्तियों की आधिकारिक वेबसाइट्स और उनके प्रशंसकों द्वारा बनाई गई वेबसाइट्स पर ही उनके बारे में जानकारी मिल पाती थी। अब तक बॉलीवुड की कुछेक हस्तियों ने ही अपने ब्लॉग बनाएं हैं। वे अपने ब्लॉग द्वारा अपने चाहने वालों को संदेश देते रहते हैं और कई ज्वलंत मुद्दों पर टीका-टिप्पणी भी करते हैं। बॉलीवुड के सितारों के ब्लॉग पर उनके अनुभवों, चुनौतियों और सुख-दुःख के प्रतिबिंब भी झलकते हैं। ब्लॉग का सबसे बड़ा फायदा तो यह है कि यहां फिल्मी दुनिया के लोग मीडिया को माध्यम बनाए बगैर अपने विचार स्पष्ट रूप से कह सकते हैं जिसमें तोड़-मरोड़ करने की कोई गुंजाइश ही नहीं रहती। इसके साथ ही प्रशंसक अपने मनपसंद फिल्म अभिनेताओं से सीधा संवाद भी कर सकते हैं।

इतना ही नहीं फिल्मी दुनिया से जुड़ी बहुत सी हस्तियां अपनी अति-व्यस्त दिनचर्या और व्यावसायिक प्रतिबद्धताओं के बीच सामाजिक सरोकारों से भी जुड़ी हैं। कला हो या राजनीति, या फिर धर्म-कर्म हो या आतंकवाद, फिल्मी दुनिया के लोग किसी भी विषय पर अपनी बेबाक टिप्पणियां देने से गुरेज नहीं करते। शायद यही वजह है कि फिल्मी हस्तियों के ब्लॉग पर विज़िट करके अपनी टिप्पणी करने वाले उनके प्रशंसकों और आलोचकों की संख्या भी हज़ारों में है। पहले अभिनेताओं को अपनी बात कहने के लिए मीडिया पर निर्भर रहना पड़ता था लेकिन ब्लॉग पर उन्हें अपनी बात कहने की पूरी आजादी है। इतना ही नहीं फिल्मी सितारे एक-दूसरे के खिलाफ अपनी भड़ास निकालने के लिए भी अपने ब्लॉग का बखूबी इस्तेमाल करते हैं।

ब्लॉग लिखने वाले भारतीय फिल्म कलाकारों में सबसे पहले शम्मी कपूर का नाम आता है, जिन्होंने अपने ब्लॉग की शुरुआत 28 फरवरी 2003 को की। इंटरनेट पर शम्मी कपूर का ब्लॉग खुलते ही उनकी फिल्म जंगली का गीत “याहू... चाहे कोई मुझे जंगली कहे…” बजने लगता है। शम्मी कपूर फिल्म जगत के सबसे पुराने ब्लॉगर तो हैं ही, वे अपने ब्लॉग को काफी समय भी देते हैं। उन्होंने अपने ब्लॉग पर पूरे कपूर खानदान का लेखाजोखा बहुत मनभावन ढंग से फोटो सहित प्रस्तुत किया है। कपूर खानदान के शिखर पुरुष श्री पृथ्वीराज कपूर के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर उन्होंने अपने ब्लॉग पर विस्तार से लिखा है, साथ ही अपने गुरु श्री श्री हैदाखानवाले बाबा जी के लिए भी ब्लॉग पर विशेष रूप से स्थान दिया है। शम्मी कपूर ने अपनी माता श्रीमती रमा कपूर के अलावा अपने भाइयों राजकपूर, शशिकपूर और बहन उर्मिला सयाल के बारे में भी लिखा है। इस ब्लॉग पर विजिट करने पर पाठकों को शम्मी कपूर का असली नाम भी पता चल जाएगा- शमशेरराज कपूर।

नर्मदा बचाओ आंदोलन में अपनी भागीदारी और टिप्पणियों के कारण विवादों में घिरे अभिनेता, फिल्म निर्माता एवं निर्देशक आमिर खान के ब्लॉग पर विजिट करने पर उनका हरफनमौला व्यक्तित्व साफ झलक जाता है। उन्होंने अपने ब्लॉग पर न केवल अपनी फिल्मों के बारे में लिखा है बल्कि देश और दुनिया से जुड़े कई मुद्दों पर अपनी बेबाक टिप्पणियां भी की हैं। मुंबई में हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले के दौरान ही उन्होंने अपने ब्लॉग पर इस हमले की कड़े शब्दों में निंदा की थी। इस हमले में शहीद हुए सैनिकों और अपनी जान गंवा चुके लोगों के प्रति गहरी श्रद्धांजलि देते हुए आमिर खान ने लिखा कि आतंकवादियों का कोई धर्म हो ही नहीं सकता और वे मानसिक रूप से बीमार लोग हैं। उन्होंने अपने ब्लॉग पर देश के नेताओं की भी खूब खिंचाई की है। आमिर खान त्योहारों पर भी अपने प्रशंसकों के लिए अपने ब्लॉग पर बधाई संदेश लिखते हैं। आमिर का ब्लॉग उस समय काफी विवादों में आ गया था जब उन्होंने यह खुलासा किया कि उनके पालतू कुत्ते का नाम शाहरुख है। इस पर बहुत तीखी प्रतिक्रिया होने के बाद उन्हें इस कृत्य के लिए अभिनेता शाहरुख खान से माफी भी मांगनी पड़ी।

बीते दिनों राज ठाकरे पर की गई टिप्पणी के कारण बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन का ब्लॉग भी काफी चर्चा में आया था। इसी ब्लॉग पर उन्होंने शाहरुख खान के एक क्विज शो को फ्लॉप कह दिया तो उन्हें शाहरुख के प्रशंसकों की भी कड़ी आलोचना झेलनी पड़ी। बाद में उन्हें सफाई देनी पड़ी कि मीडिया ने उनके विचारों को ठीक से नहीं समझा। अमिताभ बच्चन ने अपना ब्लॉग अनिल धीरुभाई अंबानी ग्रुप (रिलायंस कॉम्यूनिकेशन्स) के स्वामित्व वाली सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट बिगअड्डा.कॉम पर 17 अप्रैल 2008 को शुरू किया। इस ब्लॉग का शुभारंभ करते हुए उन्होंने लिखा है कि मेरा ब्लॉग अपनी भावनाएं व विचार व्यक्त करने और सबके साथ साझा करने के लिए है। अमिताभ बच्चन ने भी मुंबई में आतंकवादी हमले सहित कई मामलों में अपनी टिप्पणियां अपने ब्लॉग पर दी हैं। हालांकि बॉलीवुड के अधिकांश अभिनेता अंग्रेजी में लिखते हैं लेकिन अमिताभ बच्चन के ब्लॉग पर कभी-कभार हिन्दी भी पढ़ने को मिल जाती है। बिग-बी के ब्लॉग पर उनके पिता श्री हरिवंश राय बच्चन की कविताओं के अंश भी पढ़ने को मिल जाएंगे। मीडिया से बातचीत में बिग-बी कहते हैं- “मैंने ब्लॉगिंग के लिए कोई अलग से समय निर्धारित नहीं कर रखा है। इसे मैं अपनी प्रतिबद्धता के तौर पर लेता हूं।” हालांकि बिग-बी इस बात का खंडन करते हैं कि उन्हें ब्लॉगिंग के लिए मोटी धनराशि मिली है।

रंगमंच और फिल्म जगत के अभिनेता मनोज वाजपेयी ही संभवतः एकमात्र ऐसे ब्लॉगर हैं जिनके अंग्रेजी और हिन्दी में अलग-अलग ब्लॉग हैं। मनोज वाजपेयी अपने ब्लॉग पर भारतीय प्रजातंत्र से लेकर हर मुद्दे पर अपनी भड़ास भी दिल खोलकर निकालते हैं। मुबंई पर आतंकवादी हमलों पर की कई टिप्पणी उन्हीं के शब्दों में “...वो सारे दृश्य देखकर कितनी ही बार मन विचलित हुआ। और अब मैं सुन्न-सा बैठा हूँ। क्या मैं गर्व के साथ कह सकता हूँ कि मैं इस देश का नागरिक हूँ। जिस देश में किसी भी नागरिक की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी लेने को कोई तैयार नहीं। लोग ऐसे मरे और मारे गए जैसे रोज़ बकरे हलाल होते हैं। लानत है, लानत है, लानत है। सिर्फ़ ग़ुस्सा है मेरे मन में। कोई शब्द नहीं सूझ रहे हैं। शायद ढंग की बात अगली पोस्ट में ही कर पाऊंगा।”

विश्व स्तर पर अपनी अलग पहचान बना चुके फिल्म निर्देशक शेखर कपूर भी अपने ब्लॉग पर प्रशंसकों से जुड़े रहते हैं। अपनी व्यस्त दिनचर्या के कारण हालांकि वे अपने ब्लॉग को अधिक समय नहीं दे पाते लेकिन काफी दिनों तक अपने प्रशंसकों से दूर रहने के माफीनामे के साथ अगली पोस्ट भी लिख डालते हैं।

फिल्म निर्देशन में अपना जौहर दिखाने वाले कऱण जौहर अपने ब्लॉग पर भी खूब जौहर दिखाते हैं। वे अपने रोजमर्रा के कार्यक्रमों के अलावा फिल्म निर्देशन से लेकर सामाजिक मामलों पर भी खुलकर लिखते हैं। मशहूर अभिनेता नाना पाटेकर अपने ब्लॉग में लिखते हैं कि वे कोई फिल्म पूरी करने के बाद अपने गांव चले जाते हैं और अपने परिजनों के साथ रहते हैं। इसलिए फिल्म इंडस्ट्री में उनके बहुत कम दोस्त हैं, और जो हैं भी, उनसे भी वे कम ही संपर्क कर पाते हैं। नाना का कहना है कि फिल्म का समाज पर प्रभाव जरूर पड़ता है लेकिन इतना ज्यादा भी नहीं कि फिल्मों में धूम्रपान के दृश्यों पर प्रतिबंध लगाया जाए। यदि ऐसा है तो फिर तो हत्या के दृश्य भी बंद करने होंगे। सलमान खान भी अपने ब्लॉग में अपनी फिल्मों के बारे में विस्तार से लिखते हैं।

बॉलीवुड के सितारे जॉन अब्राहम, राहुल बोस, राहुल खन्ना, अनुपम खेर, नाना पाटेकर, मोहन अगाशे, बिपाशा बसु, गुल पनाग, पायल रोहतगी और सुचित्रा कृष्ममूर्ति ने भी अपने ब्लॉग बनाए हैं। फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप, प्रकाश झा और निर्माता-निर्देशक रामगोपाल वर्मा के ब्लॉग भी इंटरनेट पर उपलब्ध है। उम्मीद है कि आने वाले दिनों में बॉलीवुड के कुछ और चेहरे भी इस सूची में जुड़ जाएंगे। फिल्मी हस्तियों के ब्लॉग पर उनके फोटो और फिल्मों के वीडियो भी मिल जाएंगे जिन्हें उनके प्रशंसक डाउनलोड कर सकते हैं। बॉलीवुड के सितारों के ब्लॉग पर विजिट करके टिप्पणी करने वाले उनके प्रशंसकों की संख्या हजारों में है और इसमें निरंतर वृद्धि हो रही है। इतना निश्चित है कि आने वाले समय में ब्लॉगिंग फिल्मी सितारों, निर्माता-निर्देशकों, गायकों और संगीतकारों का अपने प्रशंसकों से संवाद का एक सशक्त माध्यम बन जाएगा।

कुछ फिल्मी हस्तियों के आधिकारिक ब्लॉग

शम्मी कपूर http://www.junglee.org.in/
अमिताभ बच्चन http://bigb.bigadda.com/
आमिर खान http://aamirkhan.com/blog/
शेखर कपूर http://www.shekharkapur.com/blog/
करण जौहर http://www.mynameiskaran.com/
मनोज वाजपेयी http://manojbajpayee.itzmyblog.com/
रामगोपाल वर्मा http://rgvblogs.blogspot.com/
बिपाशा बसु http://bipashabasu.rediffblogs.com/
नाना पाटेकर http://nanapatekar.rediffblogs.com/
सलमान खान http://duskadum.blogspot.com/
पायल रोहतगी http://payalrohatgi.blogspot.com/
गुल पनाग http://www.gulpanag.net/gulspace/
राहुल बोस http://www.intentblog.com/author.php?author=Rahul%20Bose
राहुल खन्ना http://www.intentblog.com/author.php?author=Rahul%20Khanna
जॉन अब्राहम http://johnabraham.rediffblogs.com/



सुरेन्द्र पॉल
व्याख्याता (पत्रकारिता)
कर्मवीर विद्यापीठ, खण्डवा
(माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल)
दूरभाष 0733 2248895
मोबाइल 99931 09267

5 comments:

संगीता पुरी said...

बालीवुड के कुछ कलाकारों ने अपने ब्‍लाग तो बनाए हैं ... और कुछ बनाने की तैयारी में भी हैं ... पर कुछेक को छोडकर सबने अंग्रेजी में ही अपना ब्‍लाग बनाया है ... यह विडम्‍बना ही है कि हिन्‍दी दर्शको के कारण सितारे बने ये लोग हिन्‍दी से ही परहेज रखते हैं।

Unknown said...

sir

unke blog tak pahunchne ke link bhi laga dete to jayda achha hota

Unknown said...

संगीता जी
बिल्कुल ठीक कहा आपने... बॉलीवुड के सितारे हिन्दी से कमा-खा रहे हैं लेकिन हिन्दी बोलते हुए पता नहीं उन्हें क्यों तकलीफ होती है। मुझे लगता है कि अगर वे हिन्दी में बोलेंगे तो उनके चाहने वाले उन्हें और चाहने लगेंगे।

प्रिय राजीव
आपके सुझाव पर मैंने कुछ फिल्मी हस्तियों के आधिकारिक ब्लॉग के लिंक पोस्ट में शामिल कर लिए हैं।

अभिषेक मिश्र said...

अच्छी जानकारी दी आपने, स्वागत.

(Pls remove unnecssary word verification.)

अनिल कान्त said...

सितारे बने हैं ये हिंदी फिल्मों के कारण और लिखते अंग्रेजी में हैं ....

यूँ ही निरंतर अच्छा लिखते रहें ....
आपका और आपके ब्लॉग का स्वागत है

मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति